संक्रमण की इस चैन को तोड़ने के लिए :संक्रमित व्यक्ति से सीधे संपर्क होगा 

0
45

फरीदाबाद, 5 मई। उपायुक्त यशपाल ने कहा कि कोरोना के इस संक्रमण की चैन को तोड़ने के लिए हमें संक्रमित मरीजों की कांटेक्ट ट्रेसिंग पर सबसे ज्यादा ध्यान देना है। उन्होंने कहा कि जिला के सभी आठ इंसीडेंट कमांडरों को उनके उनके क्षेत्रों में प्रतिदिन संक्रमित होने वाले व्यक्तियों की सूची दी जाएगी। इस सूची के जरिए उन्हें बूथ लेवल कमेटी वर्करों से संपर्क करना है। इन बूथ लेवल कमेटियों के माध्यम से हमें प्रत्येक संक्रमित के संपर्कों को ढूंढना है और उनकी टेस्टिंग कर संक्रमण की इस चैन को तोड़ना है। उपायुक्त यशपाल बुधवार सुबह सभी इंसिडेंट कमांडरों सहित प्रशासनिक अधिकारियों को वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से दिशा निर्देश दे रहे थे। उपायुक्त यशपाल ने कहा कि फरीदाबाद जिला में प्रतिदिन 1500 से 1800 संक्रमित व्यक्ति सामने आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमें प्रत्येक संक्रमित व्यक्ति से सीधे संपर्क करना है और उससे यह पता करना है कि उसके संपर्क में कौन-कौन व्यक्ति रहा है, संक्रमित ने कहाँ-कहाँ यात्राएं की हैं। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा बूथ लेवल कमेटी भी बनाई गई है। ऐसे में इंसिडेंट कमांडर को सीएमओ से प्रतिदिन उपलब्ध सूची संबंधित क्षेत्रों की बूथ लेवल कमेटी को तुरंत उपलब्ध करवानी है। उन्होंने कहा कि प्रत्येक इंसीडेंट कमांडर के पास करीब ढाई सौ लोगों की सूची होगी और बूथ कमेटियों में करीब इतने ही व्यक्ति शामिल हैं। उन्होंने कहा कि हमें बड़ी गंभीरता के साथ संक्रमण की इस चैन को तोड़ना है। उन्होंने कहा कि जिस भी व्यक्ति को मदद की आवश्यकता है उसे तुरंत यह मदद प्रशासन उपलब्ध करवाएगा। उन्होंने कहा कि किसी भी पीड़ित के परिजनों से ज्यादा मदद करने की जिम्मेदारी जिला प्रशासन की है। ऐसे में आपदा के इस समय में हमें अपनी जिम्मेदारी को समझना है और प्रत्येक व्यक्ति को मदद उपलब्ध करवानी है। उन्होंने कहा कि संक्रमित व्यक्ति से चिकित्सक अवश्य बात करें और यह ध्यान रखा जाए कि जो चिकित्सक एक बार संबंधित संक्रमित से बात करें वही समय-समय पर फॉलोअप भी करें। उन्होंने कहा कि हम लगातार बड़े अस्पतालों से बातचीत भी कर रहे हैं की उनके पास जो बेड एवं वेंटिलेटर खाली हैं उनकी सूचना तुरंत जिला प्रशासन को दी जाए। उपायुक्त ने ऑक्सीजन बेड की जानकारी लगातार रखने के निर्देश भी दिए। उन्होंने कहा कि सभी इंसिडेंट कमांडर को अपने अपने क्षेत्र की पूर्ण जानकारी हो और वहां अस्पतालों में क्या स्थिति एवं जरूरत है। उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन सप्लाई को लेकर हमारी व्यवस्था बेहतर है और जल्द ही हम यह सुनिश्चित करेंगे की अस्पतालों को ज्यादा से ज्यादा सप्लाई हो ताकि अस्पताल आम लोगों पर बाहर से ऑक्सीजन लाने के लिए दबाव नहीं बना सके। उन्होंने कहा कि जितने भी स्वास्थ्य संस्थान हैं वह सभी इंसिडेंट कमांडर के नेतृत्व में काम करेंगे। उन्होंने कहा कि जिस भी क्षेत्र में हम काम कर रहे हैं, हमें उस क्षेत्र के पार्षदों को भी साथ लेकर काम करना है। उन्होंने कहा कि हमें विभिन्न संगठनों एवं पार्षदों के संसाधनों का भी भरपूर सहयोग लेना है। मीटिंग में हुडा प्रशासक कृष्ण कुमार, एसडीएम बल्लभगढ़ अपराजिता, एसडीएम बड़खल पंकज सेतिया, एसडीएम फरीदाबाद परमजीत चहल, एचएसवीपी के कार्यकारी अधिकारी जितेंद्र कुमार, नगर निगम के संयुक्त आयुक्त प्रशांत अटकान, अलका चौधरी, सीएमओ रणदीप सिंह पुनिया सहित सभी इंसिडेंट कमांडर एवं विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद थे

LEAVE A REPLY