भाभी के चरित्र पर था शक देवर ने गला रेतकर की हत्या

0
149
फरीदाबाद। सेक्टर-21सीमें एक युवक ने शनिवार रात अपनी भाभी की चाकू से गला रेतकर हत्या कर दी। देवर को अपनी भाभी के चरित्र पर शक था। हत्या के बाद वह फरार हो गया। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों के सुपुर्द कर दिया है। पुलिस की एक टीम आरोपी की तलाश में उन्नाव रवाना हुई है।
मूल रूप से उन्नाव का रहने वाला मनोज अपने छोटे भाई कपिल के साथ सेक्टर-21सी में झुग्गी डालकर रह रहा है। मनोज का विवाह सात साल पहले उन्नाव की रहने वाली आरती के साथ हुआ था। आरती ने दो बच्चों को जन्म दिया। बड़ी बेटी है, फिर बेटा है। मनोज ने झुग्गी के पास ही कपड़े प्रेस करने का ठिकाना बना रखा है जबकि आरती घरों में झाडू पौंछा करके घर की गुजर बसर में हाथ बंटा रही थी। पिछले कई दिनों से मनोज का अपनी पत्नी आरती से झगड़ा हो रहा था। बीच में कपिल भाभी को ही डांटता था। आरती के साथ मारपीट भी होती रहती थी। शनिवार की रात को आरती के साथ उसके देवर कपिल ने झगड़ा शुरू कर दिया। आरती की बेटी जानवी ने पुलिस को बताया कि कपिल ने उसकी मां को बहुत गालियां दी, फिर चाकू से गला रेत दिया। हत्या करने के बाद कपिल मनोज दोनों ही चंपत हो गए। झुग्गी के पास ही एक अपार्टमेंट है, उसके गार्ड ने चीख पुकार सुनी तो वह मौके पर पहुंचा। देखा आरती (23 वर्ष) मृत अवस्था में पड़ी है। उसने पुलिस को फोन करके सूचना दी। अनखीर चौकी से पीएसआई दर्पण कुमार मौके पर पहुंचे। पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया है। आरती के भाई विशंबर के बयान पर पुलिस ने कपिल के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया। चौकी प्रभारी का कहना है कि आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए टीम उन्नाव रवाना हो चुकी है।
पुलिस ने इस मामले में भूपेश के भाई हरीश के बयान पर पोस्टमार्टम की कार्रवाई की है। हरीश ने किसी के खिलाफ कोई बयान नहीं दिए है। भूपेश ने मरने से पहले एक कागज पर लिखा था कि उसकी जायदाद उसके तीनों बच्चों के नाम कर दी जाए। -जगमाल, संजय कॉलोनी चौकी प्रभारी।

LEAVE A REPLY