बीके अस्पताल लापरवाही का मामला, सडक हादसे में घायल युवक का नहीं किया डाक्टर ने ईलाज

0
165
फरीदाबाद 22 मई।  फरीदाबाद के सिविल अस्पताल में एक बार फिर डाक्टर की लापरवाही का मामला उस वक्त सामने आया जब 20 मई की रात करीब 10 बजे एक युवक सडक हादसे में घायल होकर अस्पताल पहुंचा, जहां ईमरजेंसी में ड्यूटी पर तैनात डाक्टर रोहित गौड ने घायल युवक का न तो प्राथमिक उपचार किया और न ही उसकी एमएलसी काटी, हादसे से हाथ में लगी गंभीर चोट के बाद घायल सुशील ने 22 मई को सीएमओ को डाक्टर द्वारा की गई ईलाज के दौरान लापरवाही की शिकायत लिखित में दी जिसके बाद  इमरजेंसी डाक्टर स्मृति ने घायल युवक का उपचार किया और उसकी एमएलसी काटकर अस्पताल में भर्ती किया। बता दें कि डाक्टर रोहित गौड द्वारा ड्यूटी के समय की गई लापरवाही का ये कोई पहला केस नहीं है इससे पहले भी कही बार डाक्टर पर लापरवाही करने के आरोप लगते रहे हैं।  हाथ में लगी गंभीर चोट को दिखाता हुआ ये युवक 20 मई की रात अपने घर से सोहना रोड पर गौंछी के पास किसी काम से बाहर जा रहा था कि तभी एक ऑटो चालक ने उसमें टक्कर मार दी, टक्कर लगने से युवक का हाथ पूरी तरह से चोटिल हो गया, घायल सुशील इलाज करवाने के लिये रात के करीब 10 बजे सिविल अस्पताल पहुंचा तो ड्यूटी पर डाक्टर रोहित गौड ने उनका ईलाज नहीं किया और नही एमएलसी काटी, दूसरे दिन रविवार होने के कारण वो अस्पताल में किसी से शिकायत करने नहीं आया, सोमवार 22 मई को सुशील ने सीएमओ को डाक्टर द्वारा की गई लापरवाही की लिखित में शिकायत दी, इसके बाद इमरजेंसी की डाक्टर स्मृति ने उनका ईलाज कर अस्पताल में भर्ती किया और एमएलसी काटकर दी।

LEAVE A REPLY