फरीदाबाद में ट्रेनिंग कर रही आर नंदिनी ने किया आईएएस टॉप

0
253
Faridabad-01June,2017-Nandini KR, IAS UPSC Topper 2016-2017 Rank 1 Interview from Karnataka being welcome by mcf commissioner Sonal Goel at The National Academy of Customs, Excise and Narcotics in Faridabad. on late night wednesday--photo by--Dushyant Tyagi

फरीदाबाद 1 जून। केरल – कर्नाटक की रहने वाली आर नन्दिनी ने एक बार फिर साबित किया है की लडकिया किसी से कम नहीं है . उन्होंने पूरे देश में आईएएस में टॉप किया किया है . हालांकि वह चौथी बार कड़ी मेहनत के बाद आईएएस टॉप करने में सफल हुई है जिसका श्रेय वह सोसाइट और अपने माता – पिता को दे रही है. आर नन्दिनी फरीदाबाद के सेक्टर 29 स्थित नासेन में ट्रेनिंग ले रही थी। मिठाई खाकर अपनी ख़ुशी मानती नजऱ आ रही ये है कोरल – कर्नाटक की रहने वाली आर नन्दिनी। जिन्होंने साबित कर दिया की अगर इरादे मजबूत हो तो कोई भी मंजिल मुश्किल नहीं है . आर नन्दिनी ने पूरे भारत में ढ्ढ्रस् टॉप करके साबित कर दिया है की लडकियां किसी से कम नहीं है. हालांकि वह चौथी बार कड़ी मेहनत के बाद आईएएस टॉप करने में सफल हुई है जिसका श्रेय वह सोसाइट और अपने माता – पिता को दे रही है. आर नन्दिनी ने बताया की सेकेण्ड अटैम्प्ट में उन्होंने आईआरएस किया था और अब चौथे अटेम्प्ट में वह आईएएस का टारगेट पूरा कर सकी. उसने बताया की मेरे लिए यह आज बड़ी ख़ुशी के पल है और आगे भी वह देश के लिए अच्छा काम करना चाहती है और उसे जो भी जिम्मेवारी दी जायेगी वह उसे पूरी निष्ठा से निभाएगी। नंदिनी ने बताया की उसके पिता एक स्कूल में टीचर है और उनकी माँ एक हाउसवाइफ है. उसका एक भाई भी है जो इत्तेफाक से मेरे साथ यहाँ मौजूद है. नंदिनी ने बताया की उसने अपनी जि़ंदगी में बहुत उतार चढ़ाव देखे है और अब वह अपनी सफलता का श्रेय सोसाइटी और अपने माँ – बाप को देना चाहती है जिन्होंने उसे स्पोर्ट किया। आईएएस टॉपर आर नंदिनी के भाई तौरन पटेल ने बताया की दीदी बचपन से ही बहुत मेहनती थी और स्कूली शिक्षा के दौरान वह पढाई में बहुत होशियार थी और आज कड़ी मेहनत का फल उसे मिला है. तौरन ने बताया की उनके माता पिता हमेशा उनके साथ फ्रेंडली रहे है और उन्होंने हम भाई बहनो के लिए पढ़ाई में स्पोर्ट किया है. उसने बताया की पिता की तरह मेरी माँ भी टीचर थी लेकिन हम भाई – बहन के लिए उन्होंने नौकरी छोड़ दी थी ताकि हमारा अच्छे से ख्याल रख सके. आज मैं समझता हूँ की दीदी की सफलता और लड़कियों के लिए प्रेरणा पैदा करेगी। तौरन ने बताया की वह खुद एग्रीकल्चर में एमएससी कर रहे है और उसकी दीदी यहाँ ट्रेनिंग सेंटर में आईआरएस प्रोफेशनरी आफिसर हैं.

LEAVE A REPLY