पुलिस ने किया पुलिस का स्टिंग – पुलिस कमीश्रर ने किये 9 पुलिस कर्मी निलंबित वहीँ दो चौकी इंचार्जों को लापरवाही बरतने पर किया निलंबित।

0
288

पुलिस ने ही किया पुलिस का स्टिंग ! जी हाँ भ्रष्ट्राचार के खिलाफ फरीदाबाद में पुलिस कमीश्रर हनीफ कुरेशी ने अब तक का सबसे बडा कदम उठाते हुए अपनी ही पुलिस टीम से पुलिसकर्मियों का स्टिंग आपरेशन करवाया है जिसमें  दर्जनों पुलिस कर्मियों को रिश्वत लेते हुए पाया गया है जिनमें से पहचान होने पर 9 रिश्वतखोर पुलिस कर्मियों को तुरंत प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है जिसमे सब इन्स्पेक्टर रैंक के अधिकारी भी शामिल है वहीं दूसरी और ड्यूटी में लापरवाही बरतने पर दो क्षेत्रो के चौकी इंचार्जों को भी निलंबित कर दिया है।  निलंबित किये गये पुलिसकर्मी अवैध शराब बेचने वालों से और आटों चालकों से रिश्वत लेते हुए पकडे गये हैं। अभी भी कई पुलिस कर्मियों की विडियों रिकार्डिंग की जांच की जा रही है , जिनकी पहचान होने पर उनके खिलाफ भी कार्यवाही की जायेगी। पुलिस कमीश्नर के इस कदम से पूरे पुलिस महकमे में खलबली मच गयी है।

पुलिस कर्मी या तो सुधर जायें या फिर नौकरी छोड दें, क्योंकि इन दिनों फरीदाबाद शहर में पुलिस आयुक्त डॉ. हनीफ कुरैशी शहर को भ्रष्ट्रचार मुक्त बनाने की मुहिम में लग चुके हैं जिसके तहत उन्होंने स्टिंग ऑपरेशन के लिए विश्वसनीय पुलिसकर्मियों की एक टीम बनाई है, जिन्होंने स्टिंग ऑपरेशन को अंजाम दिया है। इस टीम ने पुलिसकर्मियों की पैसे लेते हुए कई वीडियो बनाए हैं, इनमें से नौ की पहचान हुई है। जिन्हें तुरंत प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। अभी अन्य वीडियो की भी जांच की जा रही हैै, जिनमें पुलिसकर्मी रुपये लेते हुए दिख रहे हैं, उनकी पहचान की जा रही है। वहीं दो चौकी प्रभारियों को ड्यूटी में लापरवाही बरतने के आरोप में निलंबित किया गया है। भ्रष्टाचार के विरुद्ध पुलिस आयुक्त का यह अब तक का सबसे बड़ा कदम माना जा रहा है।
 पुलिस आयुक्त ने निलंबित हुए पुलिसकर्मियों में क्राइम ब्रांच सेक्टर-30 में तैनात एसआइ ईश्वर सिंह , पुलिस आयुक्त कार्यालय अकाउंट ब्रांच में तैनात एचसी कुलदीप, क्राइम ब्रांच एनआइटी में तैनात एचसी जयचंद,  भूपेंद्र,  क्राइम ब्रांच सेक्टर-48 में तैनात एचसी अर्जुन सिंह, ट्रैफिक स्टाफ में तैनात एचसी धर्म सिंह , यमुना माइनिंग स्टाफ में तैनात सिपाही इशब खान, पाली पुलिस चौकी में तैनात सिपाही कैलाश और पुलिस आयुक्त कार्यालय शिकायत शाखा में तैनात सिपाही राजीव के नाम शामिल हैं।
वही इस पूरी प्रक्रिया के बारे में बताते हुए पुलिस कमीश्रर हनीफ कुरेशी ने कहा कि पुलिस की छवि सुधारने के लिए जरूरी है कि पुलिसकर्मियों का लोगों के प्रति व्यवहार सुधरे। पिछले कुछ दिनों से उन्हें लगातार पुलिस कर्मियों के रिश्वत लेने की सूचना मिल रही थी जिसपर उन्होंने एक टीम गठित की है। उस टीम ने गुप्त कैमरे से इन पुलिसकर्मियों का स्टिंग ऑपरेशन किया। वीडियो में जिनकी पहचान हो गई है, उन्हें निलंबित किया गया है। जिनकी पहचान नहीं हुई है उनकी पहचान भी की जा रही है। निलंबित किये गये पुलिसकर्मी अवैध शराब बेचने वालों से और आटों चालकों से रिश्वत लेते हुए पकडे गये हैं। वहीं उन्होंने बताया है कि दो पुलिस चौकी ईचार्जों को एफआईआर न करने के मामले में निलंबित कर दिया है, जिन्होंने एक पीडित को एक चौकी से दूसरी चौकी तक घुमाया और उसके बाद भी उसकी एफआईआर दर्ज नहीं की थी।  साथ ही उन्होंने भ्रष्ट पुलिस कर्मियों को भी चेतावनी दी है ईमानदारी से सेवा करना शुरू कर दें,ये कार्रवाई आगे भी जारी रहेगी।

LEAVE A REPLY