खाटू श्याम मंदिर में मनाई गई फूलों की खेली,भक्तों ने बिखेरे फूल 

0
381
फरीदाबाद 9 मार्च। हिंदु मुस्लिम एकता के प्रतीक फरीदाबाद अजरौंदा चौक नेशनल हाईवे स्थित खाटू श्याम माखन मिश्री मंदिर में खाटू श्याम की तर्ज पर पहली बार फरीदाबाद में फूलों की होली खेली गई, होली में प्रयोग किये गये फूल कलकत्ता से मंगवाये और भगवान श्रीकृष्ण की वंदना और होली के रसिया प्रस्तुत करने के लिये बरसाने के ब्रज कलाकार पहुंचे। जिनके धमाकेदार भक्तिमय भजनों पर मंदिर में पहुंचे श्रद्धालुओं ने एक दूसरे पर फूल बिखेरते हुए जमकर फूलों की होली खेली और भगवान की भक्ति में डूबकर मनमस्त नृत्य किया। एक दूसरे पर फूल फेंकते हुए नृत्य करने का ये नजारा किसी शादी समारोह या कार्यक्रम का नहीं है ये नजारा है मंदिर में खेली गई श्रद्धालुओं द्वारा फूलों की होली का। जी हां फरीदाबाद अजरौंदा चौक नेशनल हाईवे स्थित खाटू श्याम माखन मिश्री मंदिर में खाटू श्याम की तर्ज पर पहली बार फरीदाबाद में फूलों की होली खेली गई, जिसमें होली खेलने पहुंचे सैंकडों श्रद्धालुओं ने एक दूसरे पर रंग की जगह फूल फेंकते हुए होली मनाई और जमकर भगवान की भक्ति में लीन होकर नृत्य किया।  इस बारे में अधिक जानकारी देते हुए होली के आयोजक के सी गोयल ने बताया कि खाटू श्याम माखन मिश्री मंदिर हिंदु मुस्लित एकता का बहुत बडा प्रतीक है क्योंकि इस मंदिर को स्थापित करवाने में मुस्लिम समुदाय का बहुत बडा हाथ है, इसी भाईचारे को बनाये रखने के लिये जिस तरह खाटू श्याम में लोग 32 किलोमीटर पैदल चलकर होली खेलने जाते हैं इसी प्रकार आज फरीदाबाद के इस मंदिर में भी पहली बार फूलों की होली का कार्यक्रम रखा गया, जिसमें सैंकडों श्रद्धालुओं ने भाग लिया। इस होली में प्रयोग किये जाने वाले फूल कलकत्ता से मंगवाये गये और भगवान की वंदना व होली के ब्रजमयी रसिया प्रस्तुत करने के लिये बरसाने के कलाकार पहुंचे।  वहीं इस होली को खेलने पहुंचे श्रद्धालुओं से बात की गई तो उन्होंने बताया कि उन्हें आज फूलों की होली मंदिर में खेलकर बहुत अच्छा लगा जिसपर उन्होंने जमकर भक्ति में लीन होकर मनमस्त नृत्य किया और एक दूसरे पर फूल फेंक कर होली मनाई, साथ ही उन्होंने लोगों से आह्वान किया कि रंगों की होली न मनायें फूलों की होली को प्राथमिकता दें।

LEAVE A REPLY